dillinewslive.com
Home Sports इस देश में लड़कों को नहीं मिल रही दुल्हन, सरकार ने चलाई ‘लव एक्सप्रेस’
September 2, 2019

इस देश में लड़कों को नहीं मिल रही दुल्हन, सरकार ने चलाई ‘लव एक्सप्रेस’

चीन के स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 10 कोच वाले इस लव परस्यूट ट्रेन को तीन साल पहले देश के करीब 200 मिलियन सिंगल लोगों के लिए मैच मेकिंग सेवा के तौर पर लॉन्च किया गया था. इस ट्रेन में अब तक 3 हजार से ज्यादा युवक-युवतियों ने साथ में सफर किया जिसके बाद करीब 10 जोड़ों ने आपस में शादी रचा ली जबकि कई अच्छे दोस्त बन गए और रिलेशनशिप में आ गए.

dillinewslive.com
Photos by Su Zhigang and Hu Yafei/For chinadaily.com.cn/
  • चीन में युवक-युवतियों के लिए चलाई गई लव एक्सप्रेस
  • युवाओं को सही जीवन साथ नहीं मिलने पर चीन सरकार ने की अनोखी पहल

चीन में इन दिनों वहां के युवाओं को अपनी पसंदीदा जीवनसाथी नहीं मिल रही है. एक बच्चे की नीति की वजह से इस देश में लिंगानुपात की खाई बढ़ती जा रही है. इस समस्या से निपटने के लिए चीन ने एक अनोखी पहल की. इस कार्यक्रम के तहत चीन 1000 युवक और 1000 महिलाओं को स्पेशल ट्रेन की यात्रा करवा रहा है ताकि वो अपना सही जीवन साथी ढूंढ सकें. इस ट्रेन को ‘लव एक्सप्रेस’ भी कहा जा रहा है.

dillinewslive.com
Photos by Su Zhigang and Hu Yafei/For chinadaily.com.cn

चीन के स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 10 कोच वाले इस लव परस्यूट ट्रेन को तीन साल पहले देश के करीब 200 मिलियन सिंगल लोगों के लिए मैच मेकिंग सेवा के तौर पर लॉन्च किया गया था. इस ट्रेन में अब तक 3 हजार से ज्यादा युवक-युवतियों ने साथ में सफर किया जिसके बाद करीब 10 जोड़ों ने आपस में शादी रचा ली जबकि कई अच्छे दोस्त बन गए और रिलेशनशिप में आ गए.

dillinewslive.com
Photos by Su Zhigang and Hu Yafei/For chinadaily.com.cn

इस ट्रेन में यात्रा करने वाले एक युवक यांग हुआन ने बताया कि लव परस्यूट ट्रेन की यात्रा के दौरान उन्हें अपनी प्रेमिका मिल गईं और उसके लिए भी वो एक अच्छे प्रेमी बने. उन्होंने कहा कि हमें वापसी की यात्रा के दौरान एहसास हुआ कि हमारी सोच मेल खाती है और हम एक हो गए.

1 बच्चे की नीति ने बिगाड़ा लिंग अनुपात

गौरतलब कि पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश बनने के बाद चीन ने साल 1970 में एक बच्चे की नीति अपनाई ताकि बढ़ती जनसंख्या को रोका जा सके. उसी नीति की वजह से वहां लोगों को जीवन साथी मिलने में दिक्कत होने लगी क्योंकि लिंग अनुपात बिगड़ता चला गया.

2016 में सरकार ने बदला नियम

हालांकि करीब 30 मिलियन युवाओं को सही जीवन साथी नहीं मिलने के बाद चीन ने साल 2016 में एक बच्चे वाली नीति को खत्म कर दिया. चीन में इस नियम के बाद सिर्फ एक बच्चे को लेकर कई दंपत्ति ने बेटे की चाह में गर्भ में ही बेटियों को मार दिया जिससे वहां असंतुलन बन गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Cycle Polo Federation of India Launches First Ever Cycle Polo League

Cycle Polo Federation of India Launches First Ever Cycle Polo League (CPL) ~ The occasion …