fbpx
Wednesday, February 19, 2020
Home Business क्या आप जानते हैं रुपये पर महात्मा गांधी कब से छप रहे...

क्या आप जानते हैं रुपये पर महात्मा गांधी कब से छप रहे हैं ?

क्या आप जानते हैं रुपये पर महात्मा गांधी कब से छप रहे हैं? शायद नहीं ? चलिये हम आपको बताते हैं की आखिर कबसे गाँधी जी छपते आ रहे हैं रुपये पर.

भारत को 14 अगस्त 1947 को आज़ादी हासिल हुई , लेकिन देश गणतंत्र 26 जनवरी 1950 को बना था. अभीतक भारतीय रिज़र्व बैंक प्रचलित करेंसी नोट ही जारी करता था.

भारत सरकार में पहली बार 1949 में एक रुपये के नोट का नया डिज़ाइन तैयार हुआ (भारतीय रिज़र्व बैंक की वेबसाइट के मुताबिक़) पर अभी तक आज़ाद भारत के लिए चिन्हो को नहीं चुना गया था,

शुरुआत में सभी ये मानते थे की ब्रितानी महाराजा की जगह नोट पर महात्मा गाँधी की तस्वीर लगेगी जिसका डिज़ाइन तैयार कर लिया गया था.

परन्तु सभी की सहमति इस बात कर बनी की करेंसी नोट पर महात्मा गाँधी की बजाय अशोक स्तम्भ छापा जाना चहिये।

बाकि कुछ ज्यादा डिज़ाइन को बदला नहीं गया. साल १९५० भारतीय गणराज्य में पहली बार 2 , 5 , 10 और 100 रुपये के नोट जारी किये गए. जहाँ प्रचलित 2 ,5, और १०० रुपये के नोट में रंग बिलकुल अलग थे , वहीं 10 रुपये के नोट पर पाल नौका की तस्वीर वैसे ही राखी गयी जैसे की पहले थी।

1953 में करेंसी नोटों पर हिंदी को मुख्य रूप से छापा गया. रुपया के बहुवचन को लेकर भी काफी चर्चा हुई निर्णय लिया गया की रुपया का बहुवचन रूपये होगा.

साल 1954 में फिरसे 1000, 5000, और 10000 रुपये के नोट जारी किये गए, परन्तु साल 1978 में नोटबंदी के जरिये इन्हे व्यवस्था से बाहर कर दिया गया.

वही पर 2 और 5 रूपये के छोटे करेंसी नोटों पर शेर, हिरण आदि की तस्वीरें छपती थी और साल 1975 में 100 रुपये के करेंसी नोट पर चाय बागानों से पत्ती चुनना और कृषि आत्मनिभर्रता जैसे चित्र दिखने लगे।

महात्मा गाँधी के 100वें जन्मदिन पर साल 1969 में पहली बार करेंसी नोटों पर महात्मा गाँधी की बैठे हुए तस्वीर छापी गयी जिसमे सेवाग्राम आश्रम पृष्ठभूमि में था. 20 रूपये का नोट साल 1972 में और 1975 में 50 रुपये का करेंसी नोट जारी किया गया.

80 के दशक में नई सीरीज़ के करेंसी नोट जारी किये गए.वहीं पर पुरानी तस्वीरों की जगह नयी तस्वीरें ले ली गई। 1 , 5 ,और 10 रुपये के नोट पर तेल का कुआं ,खेत जोतता हुआ ट्रेक्टर , कोणार्क मंदिर का चक्र और शालीमार गार्डन की तस्वीर छापी गयी।

भारत देश की अर्थ व्यवस्था निरंतर बढ़ रही थी और लोगो की खरीदारी में भी बड़ोतरी हो रही थी जिसके अंतर्गत 1987 में पहली बार रिज़र्व बैंक ने महात्मा गाँधी की तस्वीर और वाटर मार्क में अशोक स्तम्भ वाला 500 रुपये का नोट जारी कर दिया।

इसके साथ साथ साल 1996 में नए सुरक्षा फीचर्स के साथ महात्मा गाँधी सीरीज़ के नए नोट जारी किये गए जिसमे ऐसे फ़ीचर भी थे जिससे नेत्रहीन लोग करेंसी की पहचान कर सके.

अक्टूबर 2000 में 1000 रुपये का नोट जारी किया गया. भारतीय करेंसी का दूसरा बड़ा सुधार नवंबर 2016 में किया गया, जहां महात्मा गाँधी सीरीज़ के 500 और 1000 रूपये के नोट अघोषित कर दिये गए और महात्मा गाँधी की तस्वीर वाला 2000 नया नोट जारी किया गया.

Most Popular

Tapas pal death:ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार को ठहराया तापस पाल की मौत का जिम्मेदार

Tapas pal death बांग्ला फिल्मों के एक्टर तापस पाल की हाल ही में हुई मृत्यु पर ममता बनर्जी का एक बहुत बड़ा...

Voter ID Card:कानून मंत्रालय ने चुनाव आयोग को दी वोटर आईडी कार्ड को आधार से जोड़ने की मंजूरी

Voter ID Card हाल ही में कानून मंत्रालय ने एक बड़ा फैसला लेते हुए आईडी कार्ड को आधार से जोड़ने के लिए...

’83’ first look: फिल्म ’83’केफर्स्ट लुक में नज़र आये दीपिका और रणवीर

'83' first look कुछ दिनों से फिल्म '83' काफी चर्चा का पात्र बनी हुई है जिसका फर्स्ट लुक जारी अब किया गया।...

‘kaamyaab’ movie trailor:शाहरुख खान द्वारा प्रोड्यूस फिल्म ‘कामयाब’ का ट्रैलर हुआ रिलीज

'kaamyaab' movie trailor इस समय बॉलीवुड किंग शाहरुख खान कई फिल्मो को प्रोड्यूस करने में लगे है और उनमे से सबसे ज्यादा...